यौवन चंचल, 

है मदभरा 
भँवरे की गुंजन 
फूलो की खशबू 
दौड़ते -भागते हिरनों 
सागर की उठती लहरो 
सतरंगी इन्द्रधनुष 
क्षितिज को छूने वाला 
मनमोहक हरा- भरा 


यौवन चंचल है

यौवन उत्सुकता है 
अनभिज्ञता ,
पारदर्शिता है
ऊर्जावान रचनाकार है 
खिलने दो , महकने दो 
यौवन जीवन का उपहार है